52 परिंदे क्या है?

52 परिंदे एक परियोजना है जिसकी पहचान 52 नवीन आविष्कारों के जो भारतीय शहरों में वैकल्पिक करियर के माध्यम से खुद को और अपने धरती के लिए सचेत कर रहे है के जीवन का दस्तावेजीकरण करने के लिए समर्पित है। इस परियोजना के तहत नवंबर के अंत में , फेलो राहुल करणपुरिया, देश भर में यात्रा कर ,52 स्थानों को कवर करके इन स्थानों में से प्रत्येक में एक सप्ताह बिताएंगे। इस दौरान राहुल की पहचान, प्रर्वतक के साथ जीवन जीने के अपने तरीके को समझने के माध्यम से वीडियो, तस्वीरें, और पाठ यह एक दस्तावेजीकरण होगा।

कौन इस यात्रा पर है?

राहुल करणपुरिया उदयपुर में स्वराज विश्वविद्यालय से एमबीए तथा पूर्व ‘Khoji’ है। यह विश्वविद्यालय स्वयं सीखने और regenerating स्थानीय संस्कृतियों, स्थानीय अर्थव्यवस्थाओं और स्थानीय परिस्थितियों के लिए समर्पित है| भिवाडा में 1987 में जन्मे, राहुल अपने कार्यों और समाज और पर्यावरण पर उनके प्रभाव के बारे में निरंतर जागरूकता के माध्यम से अपने जीवन जीते है। हमने अब राहुल से सुना है कि वह इस साल भी लंबी यात्रा पर जाने का फैसला कर रहे हैं। अधिक जानिए

परिंदे

देश भर से अद्वितीय व्यक्तियों की कहानियों और उनके व्यवसायों को साझा करना

पांच नदियो वाला प्यासा शहर

हिमाचल देश का श्वशन तंत्र

सरित शर्मा और संध्या गुप्ता

हमारा गाँव और रोज़गार

दुनिया कि भेडचाल से परे

दवाई से मरता जीवन

चलो वापस कृषि कि ओर

प्रकृति पृष्ट…

कला से बचता वन्यजीवन

प्रकृति में दिखता जीवन

मूल्यों का बाजारीकरण / मूल्य और बाज़ारवाद

दुनिया एक मंच है